AAP के 20 विधायक की सदस्या रद्द पर आज दिल्ली HC में सुनवाई, राष्ट्रपति के आदेश को देंगे चुनौती

0
76

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को चुनाव आयोग की सिफारिश पर मुहर लगाते हुए 20 विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी थी। इसकी बाकायदा अधिसूचना भी जारी की जा चुकी है। इस फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट का रुख करने वाली आम आदमी पार्टी सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ने की बात कह रही है। आखिर आप के इन 20 विधायकों अब क्या होगा।

अब आम आदमी पार्टी को सिर्फ हाईकोर्ट के दर से राहत की आस है। आज आप की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है लेकिन पिछली सुनवाई में लगी फटकार के बाद आज ज्यादा राहत मिलने की उम्मीद कम ही नजर आ रही है। आप लगातार कह रही है कि उनकी बात को बिना सुने हुए फैसला दिया गया है लिहाजा वो इस फैसले को चुनौती देंगे। हालांकि आप विधायकों की एक याचिका हाईकोर्ट में पहले ही लंबित है जिस पर आज सुनवाई होनी है। इस याचिका में आप विधायकों ने मांग की थी कि अगर चुनाव आयोग ने किसी भी तरह की सिफारिश राष्ट्रपति को भेजी है तो उस पर रोक लगा दी जाए, लेकिन हाईकोर्ट ने शुक्रवार को किसी भी तरह की अंतरिम रोक से इंकार कर दिया था। ऐसे में अब आप विधायकों के सामने विकल्प एक ही है कि वो राष्ट्रपति के आदेश के बाद जारी विधायकों की सदस्यता को रद्द करने वाली अधिसूचना को अदातल में चुनौती दें। वैसे आप विधायकों की उस याचिका पर आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है तय है जिसमें आप विधायकों ने चुनाव आयोग की किसी भी सिफारिश या कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की थी।

हालांकि राष्ट्रपति के फैसले के बाद उस याचिका का अब कोई खास मतलब फिलहाल नहीं दिखता। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने से जुड़ी चुनाव आयोग की सिफारिश को मंजूर कर लिया। लाभ के पद के चलते आयोग ने इन विधायकों को अयोग्य ठहराया था। ऐसे में अब आप विधायकों के सामने विकल्प एक ही है कि वो राष्ट्रपति के आदेश के बाद जारी विधायकों की सदस्यता को रद्द करने वाली अधिसूचना को अदातल में चुनौती दें। वैसे आप विधायकों की उस याचिका पर आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है तय है जिसमें आप विधायकों ने चुनाव आयोग की किसी भी सिफारिश या कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की थी।

हालांकि राष्ट्रपति के फैसले के बाद उस याचिका का अब कोई खास मतलब फिलहाल नहीं दिखता। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने से जुड़ी चुनाव आयोग की सिफारिश को मंजूर कर लिया। लाभ के पद के चलते आयोग ने इन विधायकों को अयोग्य ठहराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here