20 साल बाद दावोस जाने वाले मोदी पहले भारतीय पीएम

0
71

नई दिल्ली: विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की वार्षिक बैठक में भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावोस रवाना हो गए हैं। दावोस (स्विट्जलैंड) में रवाना होने से पहले मोदी ने कहा कि वे सम्मेलन में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम करने की भारत की वचनबद्धता व्यक्त करते हुए भविष्य के एजेंडे के बारे में देश का विजन रखेंगे। मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, सुरेश प्रभु, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, एम.जे. अकबर और जितेंद्र सिंह भी जा रहे हैं। उद्योग इकाई सीआईआई के नेतृत्व में सीईओ प्रतिनिधिमंडल में मुकेश अंबानी, गौतम अडाणी, अजीम प्रेमजी, राहुल बजाज, एन चंद्रशेखरन, चंदा कोचर, उदय कोटक और अजय सिंह समेत अन्य लोग शामिल हैं।
दावोस सम्‍मेलन से जुड़ी खास बातें
-मोदी दावोस में इस बार विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की शिखर बैठक के पहले पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करने वाले है।

-करीब 20 साल बाद दावोस जाने वाले मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री है, उनसे पहले 1997 में एच.डी. देवेगौड़ा दावोस गए थे।

-भारत इस सम्मेलन में देश के व्यंजनों और ‘योग’ के साथ यंग, इनोवेटिव न्यू इंडिया’ के साथ स्वागत समारोह की मेजबानी करेगा।

-पीएम मोदी स्विट्जरलैंड राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे।

-इस सम्मेलन में अन्य नेताओं में जर्मनी की चांसलर एजेंला मर्केल, अटली के प्रधानमंत्री पाउलो गेटिलोअली, फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रोन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री थेरेसा मे तथा कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडेव शामिल होंगे।

-अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस सम्मेलन में समापन भाषण करेंगे।

-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी भी दावोस में होंगे लेकिन सूत्रों के मुताबिक उनके और मोदी के बीच बैठक की कोई योजना नहीं है।

– दावोस में मोदी खास भारतीय रेस्तरां में खाना खा सकते हैं। यह रेस्तरां भारतवंशी विशाल खन्ना का है। विशाल को भारतीय प्रतिनिधिमंडल को खाना खिलाने की जिम्मेदारी मिली है।

बता दें कि दावोस में पीएम मोदी का संबोधन 23 जनवरी को होगा. इससे पहले 22 जनवरी को वह ग्लोबल सीआईओ के राउंडटेबल सम्मेलन को संबोधित करेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here