सानिया के पिता ने किया खुलासा, साल के इस महीने में गूंजेगी बच्चे की किलकारियां

0
92

हैदराबाद। आखिरकार वो दिन आ ही गया, जिसका इंतजार ना जाने सानिया मिर्जा के चाहने वाले कब से कर रहे थे, जी हां यहां बात सानिया मिर्जा के मां बनने की हो रही है तो लीजिए वो खबर आ ही गई कि आपकी लाडली बेटी सानिया मिर्जा बहुत जल्द बेटे या बेटी को जन्म देने वाली हैं। सानिया के पिता और कोच इमरान मिर्जा ने इस बात की पुष्टि कर दी कि उनका प्रमोशन होने वाला हैं और वो नाना बनने जा रहे हैं, अगर सबकुछ तय कार्यक्रम के अनुसार हुआ तो सानिया अक्टूबर में बच्चे को जन्म देंगी।

सानिया और शोएब मलिक ने आठ साल पहले शादी की थी
आपको बता दें कि सानिया और शोएब मलिक ने आठ साल पहले 2010 में शादी रचाई थी, ये रिश्ता आसान नहीं था, क्योंकि सानिया जहां भारतीय हैं वहीं शोएब पाकिस्तानी हैं। इसलिए इस रिश्ते को लेकर काफी हाय-तौबा मची थी लेकिन सानिया-शोएब ने हर मुश्किलों और विरोध का डटकर सामना किया और लोगों को बता दिया, जहां प्यार और भरोसा होता है, वहां केवल प्यार ही जन्म लेता है और सानिया-शोएब के घर आने वाला नन्हा मेहमान उस बात का साक्षात उदाहरण है।

शोएब की पहली शादी
गौरतलब है कि सानिया-शोएब की शादी के पहले एक अजीब सा बवाल खड़ा हो गया था। आयशा नाम की लड़की ने दावा किया था कि शोएब ने उनसे शादी की है और अब सानिया के लिए उन्हें छोड़ दिया है। इस खबर के आते ही भारत में बवाल मच गया था। आयशा के घरवालों ने शोएब पर केस दर्ज कर दिया था। पहले तो शोएब इस बात से इंकार कर रहे थे लेकिन फिर जब बवाल मचा और सानिया से शादी पर बात आयी तो उन्होंने स्वीकार कर लिया था कि हां आयशा से उन्होंने शादी की थी। तलाक के एवज में आयशा के परिवार वाले शोएब के खिलाफ दर्ज कराए मामले वापस लेने पर राजी हो गए थे।

मुस्लिम संगठन ने किया था विरोध
सानिया मिर्जा की शादी शोएब मलिक से हो यह कुछ मुस्लिम संगठन भी नहीं चाहते थे। सुन्नी उलेमा बोर्ड ने बकायाद फतवा जारी कर शादी पर ऐतराज जताया था। लेकिन सानिया को इन सारी बातों से कोई फर्क नहीं पड़ा और उन्होंने डंके की चोट पर मलिक संग निकाह पढ़ा।

बाल ठाकरे को था कड़ा एतराज
सानिया की शादी का सबसे तगड़ा विरोध उस समय के शिवसेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे ने किया था, ठाकरे ने तो यहां तक कह दिया था कि सानिया को भारत से बाहर कर देना चाहिए अगर वो पाकिस्तानी से शादी करती हैं और उनके सारे मेडल्स वापस लेने चाहिए।

शादी के बाद भी बवाल
सानिया-शोएब की शादी हुई लेकिन शादी के बाद भी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा था, अब सबने सवाल उठाया कि सानिया मिर्जा किस देश की तरफ से टेनिस खेलेंगी, भारत से या पाकिस्तान से, तब भी सानिया ने लोगों को तगड़ा जवाब दिया था और कहा था कि उनकी पहचान भारतीय टेनिस खिलाड़ी की है और कोई भी उनकी यह पहचान नहीं छीन सकता।

सरनेम को लेकर बवाल
शादी के बाद जब सानिया मिर्जा वापस आयीं और खेल में एक्टिव हुईं तो उनके सरनेम को लेकर भी बवाल मचा था लेकिन सानिया ने शादी के बाद भी अपना सरनेम नहीं बदला और वो सानिया मलिक नहीं बल्कि आज भी सानिया मिर्जा ही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here