श्रीदेवी की मौत के गम में हरदोई के गंगाराम ने नहीं खाया चार दिन खाना, मुंडवाया भी सिर

0
51

यूं तो श्रीदेवी के असामयिक निधन ने बॉलीवुड जगत के साथ ही समूचे देश में उनके प्रशंसकों को हिला दिया, लेकिन हरदोई के पिहानी में एक ऐसा प्रशंसक भी उनका है जिसने मौत के बाद अंतिम संस्कार तक खाना ही नहीं खाया। श्रीदेवी की चांदनी फिल्म को सौ बार देख चुके गंगाराम को जब श्रीदेवी के निधन की बात पता चली तो मानो उन पर पहाड़ टूट पड़ा। अंतिम संस्कार होने के बाद उसने सिर मुंडवाया, कुस लगाकर पहले जल दिया उसके बाद लोगों के बहुत कहने पर अन्न-जल ग्रहण किया। उसने श्रीदेवी की याद में एक अमरूद का पेड़ भी लगाया और बोला कि मैं गांव में श्रीदेवी की मूर्ति बनवाऊंगा।
कॉलेज में चौकीदार है गंगाराम
कोतवाली देहात के खमरिया गांव निवासी गंगाराम छह भाई बहनों में सबसे बड़ा है। पांच सालों से वह कस्बे में संचालित सर्वेश जनसेवा इंटर कॉलेज में चौकीदारी है। गंगाराम के मुताबिक वह बचपन से श्रीदेवी का बहुत बड़ा प्रशंसक है। उनकी चांदनी, मिस्टर इंडिया फिल्म वह सौ बार देख चुका है। कई बार उसने मुंबई जाने की कोशिश की, लेकिन श्रीदेवी से मिलने की उसकी इच्छा अधूरी ही रह गई। कक्षा पांच तक पढ़े गंगाराम ने बताया, 24 फरवरी को जैसे ही उसे श्रीदेवी के निधन खबर मिली तो वह बदहवाश हो गया। उसने खाना-पीना छोड़कर खुद को कमरे में बंद कर लिया। करीब चार दिन बाद जब श्रीदेवी का अंतिम संस्कार हो गया तब जाकर उसने खाना-खाया। यही नहीं गंगाराम ने अपना सिर मुंडवाते हुए कॉलेज परिसर में ही कुस लगाकर उसमें रोज सुबह पानी देना शुरू कर दिया। गंगाराम ने बताया कि उसने एक सौ एक पेड़ लगवाने का संकल्प भी लिया है। बोला कि मैं श्रीदेवी को बहुत चाहता था मैं उनकी हर एक अदा का दीवाना हूं। उनकी मौत ने मुझे तोड़ दिया है।
अब भी गुमसुम है गंगाराम
कॉलेज के प्रबंधक सर्वेश ने बताया, गंगाराम कॉलेज में ही रहता है, लेकिन खाना-पीना हमारे घर पर करता है। कई दिनों तक जब वह घर नहीं आया तो मैंने कॉलेज जाकर उसे डांटा कि क्यों तुम घर नहीं आए और खाना कहां खा रहे हो। कोई जबाब न मिलने पर सोचा कि शायद बीमार होगा, लेकिन तभी कॉलेज के प्रधानाचार्य ने बताया कि श्रीदेवी के निधन पर गमजदा है। बोले कि उसकी हालत देखकर कई दिनों तक निगरानी करता रहा कि कोई गलत कदम न उठा ले, काफी समझाने बुझाने के बाद उसने खाना खाया, लेकिन अभी भी गुमसुम रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here