यूपी बोर्ड रिजल्ट पर सवालः सवा लाख गैर प्रांत के भगोड़े भी हाईस्कूल-इंटर पास!

0
44

इलाहाबाद [धर्मेश अवस्थी]। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2018 में परीक्षार्थियों के अंक मनमाने तरीके से बढ़ाने का मामला थम नहीं रहा है। अब परीक्षा छोडऩे वालों के आकड़े को लेकर भी गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं, क्योंकि इम्तिहान शुरू होने के चौथे दिन यानि 10 फरवरी को ही बोर्ड ने दावा किया था कि 10 लाख 47 हजार 406 ने परीक्षा छोड़ दी है, जबकि रिजल्ट में कहा गया कि कुल 10 लाख छह हजार 408 परीक्षार्थियों ने ही छोड़ा है। ऐसे में परीक्षा के बाकी 21 दिन तक इम्तिहान छोडऩे का दिया गया आकड़ा क्या फर्जी था?

बोर्ड ने परीक्षा खत्म होने के बाद दावा किया कि कुल 11 लाख 29 हजार 786 ने इम्तिहान छोड़ा है, वहीं बोर्ड अब हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में परीक्षा छोडऩे वालों की संख्या महज दस लाख छह हजार 408 ही बता रहा है। ऐसे में एक लाख 23 हजार 378 परीक्षार्थी कहां गुम हो गए? या फिर बिना परीक्षा दिए ही उन सभी को उत्तीर्ण कर दिया गया है? इन सवालों का बोर्ड के अफसर जवाब देने को तैयार नहीं है।

खास बात यह है कि प्रदेश के उप मुख्यमंत्री व माध्यमिक शिक्षा मंत्री डा. दिनेश शर्मा ने लखनऊ व अन्य जिलों में परीक्षा छोडऩे वालों की संख्या बताते हुए दावा किया था कि ये सभी गैर प्रांत के परीक्षार्थी थे, जो सख्ती के कारण भाग खड़े हुए। परीक्षा परिणाम में बोर्ड प्रशासन के परीक्षा छोडऩे वालों का आकड़ा बदल देने से अब मंत्री का बयान भी घेरे में है। उधर, यूपी बोर्ड की ओर से कहा गया है कि 83 हजार 753 आवेदन निरस्त होने पर हाईस्कूल व इंटर की पंजीकरण संख्या घटा चुके हैं। परीक्षा छोडऩे वालों की संख्या सभी केंद्रों से भेजी गई है। इसमें बोर्ड का कोई रोल नहीं है।

परीक्षा परिणाम छोडऩे का ब्योरा

हाईस्कूल में पंजीकृत – 3656272

परीक्षा में शामिल – 3028767

दोनों का अंतर – 627505

इंटर में पंजीकृत – 2982996

परीक्षा में शामिल – 2604093

दोनों का अंतर – 378903

कुल परीक्षा छोड़ी – 1006408

इम्तिहान के पहले ही बाहर

हाईस्कूल – 49384

इंटर – 34369

कुल – 83753

बोर्ड का परीक्षा छोडऩे का दावा

हाईस्कूल – 660507

इंटर – 469279

कुल – 1129786

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here