युवराज सिंह का यह रिकॉर्ड दुनिया का कोई खिलाडी शायद ही तोड़ पाए,

0
169

आज हम आपको एक ऐसे खिलाडी के बारे में बताने जा रहे जिसके बारे में जानकर हर भारतीय का सीना गर्व से छोड़ा हो जायेगा। जी हां हम बात कर रहे भारतीय टीम के सिक्सर किंग युवराज की। जिनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड है जो शायद ही दुनिया का कोई खिलाडी तोड़ पाए।
युवराज सिंह ‘द मैन ऑफ वर्ल्ड कप’ – भारतीय टीम के खिलाडी युवराज दुनिया के एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें 4 वर्ल्ड कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब मिला हैं। उनका ये रिकॉर्ड अभी तक किसी ने नहीं तोड़ा और इसके तोड़ना भी काफी मुश्किल है।

1996 में अंडर-15 वर्ल्ड कप – युवराज सिंह ने सबसे पहले उन्होंने 1996 में अंडर-15 वर्ल्ड कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट का पहला खिताब जीता।

2000 में अंडर-19 वर्ल्ड कप – इसके बाद भारत ने सन् 2000 में अंडर-19 वर्ल्ड कप मोहम्मद कैफ की कप्तानी में अपने नाम किया। इस वर्ल्ड कप को जीताने में सबसे अहम भूमिका युवराज सिंह की थी, इसलिए उन्हें यहां एक बार फिर और दूसरी बार मैन ऑफ द वर्ल्ड कप का खिताब मिला। इसके बाद युवराज को अंतरराष्ट्रीय टीम में आने का मौका मिला और फिर उन्होंने कई बार मैच विनर पारियां खेली।

2007 में टी-20 वर्ल्ड कप – सन् 2007 में पहली बार टी-20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ और वहां भी युवराज ने पूरे टूर्नामेंट में जबरदस्त खेल दिखाया। युवराज की शानदार बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फिल्डिंग की वजह से भारत ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में वर्ल्ड कप जीता। पहले टी-20 वर्ल्ड कप में युवराज के एक ओवर में 6 छक्के को कोई भी भुला नहीं पाएगा। लिहाजा युवराज अपने करियर में तीसरी बार वर्ल्ड कप के मैन ऑफ द टूर्नामेंट बने।

2011 में वनडे वर्ल्ड कप – 2 अप्रैल 2011 को आया भारत दूसरी बार धोनी की कप्तानी में वनडे विश्व विजेता बना। युवराज को पूरे वर्ल्ड कप में ऑलराउंडर प्रदर्शन करने के लिए एक बार फिर मैन ऑफ द वर्ल्ड कप के खिताब से नवाजा गया। इस खिताब को जीतने के बाद ही युवराज को कैंसर की बीमारी ने घेरा, जिसका उन्होंने इलाज कराया और एक बार फिर मैदान में वापस चौके-छक्के मारकर दिखा दिया, कि बीमारी उनसे उनकी सबसे प्यारी चीज क्रिकेट को नहीं छीन सकती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here