भारत में विरोध के बीच, PAK में ‘पद्मावत’ बिना किसी कट के रिलीज

0
111

नई दिल्ली: फिल्म पद्मावत को लेकर जहां एक ओर भारत में जगह-जगह हिंसक प्रदर्शन चल रहे हैं, वहीं पड़ोसी देश पाकिस्तान में इस फिल्म को बिना किसी कट के रिलीज कर दिया गया है. इस्लामाबाद स्थित सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सेंसर्स (सीबीएफसी) के अध्यक्ष मोबशीर हसन ने सोशल मीडिया पर घोषणा की कि बोर्ड ने फिल्म को पास कर दिया है. उन्होंने ट्विटर पर इस मामले के संबंध में जानकारी दी.

उन्होंने टि्वटर पर लिखा, ”सीबीएफसी ने भारतीय कलाकारों वाली फीचर फिल्म पद्मावत के किसी भी दृश्य पर बिना कैंची चलाए यू सर्टिफिकेट के साथ सिनेमाघरों में दिखाने की घोषणा की है”. उन्होंने आगे कहा, ”सीबीएफसी कला, रचनात्मकता और स्वस्थ मनोरंजन में लेकर पक्षपात नहीं करता”.
गौरतलब है कि पहले ऐसा माना जा रहा था कि मुस्लिम शासक अलाउद्दीन खिलजी को नकारात्मक छवि में पेश करने के कारण फिल्म के सीन्स पर कैंची चलाई जा सकती है.

पंजाब में राजपूतों ने विरोध लिया वापस
संजय लीला भंसाली की फिल्‍म ‘पद्मावत’ का जहां एक तरफ देशभर में विरोध हो रहा है, वहीं दूसरी तरफ पंजाब की राजपूत महासभा ने फिल्म ‘पद्मावत’ का विरोध वापस ले लिया है. इंडियन एक्‍सप्रेस की खबर के अनुसार बुधवार (24 जनवरी) को राजपूत समाज से जुड़े लोगों ने पठानकोट में एक स्पेशल स्क्रीनिंग में यह फिल्‍म देखी. जानकारी के अनुसार दरअसल जिला प्रशासन ने इस स्क्रीनिंग का आयोजिन किया था. शाम को हुई इस स्‍क्रीनिंग के बाद ही राजपूत महासभा ने अपना विरोध वापस ले लिया है.

इस रिपोर्ट के अनुसार फिल्म देखने के बाद राजपूत महासभा के अध्यक्ष दविन्दर दर्शी ने कहा, ‘आज हमने फिल्म देखी, इसमें राजपूत समाज के खिलाफ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है, अब हम संतुष्ट हैं और फिल्म के रिलीज होने से हमें कोई परेशानी नहीं है.’ दविन्दर दर्शी ने कहा कि राजपूत समुदाय के 30 नेताओं ने प्रशासन के अनुरोध पर फिल्म देखी है और इसमें अब कोई विवाद नहीं रह गया है. पठानकोट के एसएसपी विशाल सोनी ने कहा कि ‘पद्मावत’ जिले के चार थियेटर में दिखाई जाएगी. उन्‍होंने कहा, ‘किसी ने फिल्म का विरोध नहीं किया है, ना ही हमें किसी हंगामे की आशंका है, यहां तक कि राजपूत समुदाय के नेताओं ने इसे देखने के बाद फिल्म की तारीफ की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here