भाजपा-पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद आज पहली बार जम्मू-कश्मीर जाएंगे अमित शाह

0
31

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर में भाजपा और पीडीपी का गठबंधन टूटने और राज्‍यपाल शासन लागू होने के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज (शनिवार को) दो दिवसीय दौरे जम्मू-कश्मीर आ रहे है. 2019 लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुटे अमित शाह प्रदेश में बीजेपी नेताओं और आरएसएस कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे. मुलाकात के बाद अमित शाह 4 बजे डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 65वीं पुण्‍यतिथि पर आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं और संघ स्‍वयंसेवकों की परेड में शामिल होंगे. इसके बाद शाह एक जनसभा को संबोधित करेंगे.

पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी ने एक बयान में कहा कि शाह पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के मौके पर शहर के एक दिन के दौरे पर जाएंगे. उन्होंने कहा कि शाह डिजिटल मीडिया और सोशल मीडिया से जुड़े कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे और इसके अलावा दूसरे सांगठनिक कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे.

गठबंधन टूटने के बाद पहली बार जम्मू कश्मीर में शाह
जम्मू कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी गठबंधन टूटने के बाद यह पहला मौका है, जब अमित शाह जम्मू-कश्मीर दौरे पर जा रहे है. सूत्रों का कहना है कि इस दौरे में अमित शाह घाटी के नेताओं को इस बात से आगाह करना चाहते हैं कि सरकार भले ही गिर गई हो, लेकिन वह अपने काम जारी रखें.

यह भी पढ़ें : आखिर जम्‍मू और कश्‍मीर में राष्‍ट्रपति शासन क्‍यों नहीं लगाया जाता, यहां जानें

बीजेपी ने वापस लिया पीडीपी से समर्थन
उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में पीडीपी को दिया समर्थन वापस लिया है. बीजेपी के महासचिव राम माधव ने समर्थन वापस लेने की घोषणा करते हुए कहा था कि जम्मू कश्मीर में कुछ मुद्दों पर बात ना बनने के कारण यह कदम उठाया जा रहा है. राम माधव ने कहा था कि उप-मुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता व अन्य नौ मंत्रियों ने राज्यपाल व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. राज्य के नेताओं को परामर्श के लिए तत्काल राष्ट्रीय राजधानी बुलाया गया था. राज्यपाल एनएन वोहरा केंद्रीय गृह मंत्रालय में सचिव रह चुके हैं. उन्‍हें जम्‍मू-कश्‍मीर के राजनीतिक परिदृश्‍य का अच्‍छा तजुर्बा है. वह पूर्व प्रधानमंत्री आईके गुजराल के प्रमुख सचिव भी थे और कश्‍मीर मसले पर बातचीत के दौरान केंद्र की ओर से वार्ताकार की भूमिका निभा चुके हैं. बीजेपी के समर्थन वापस लेने के बाद सीएम महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंपा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here