बिपिन रावत के बयान पर बवाल, ओवैसी बोले- ‘आर्मी चीफ को सियासी मुद्दों में नहीं पड़ना चाहिए’

0
67

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट और बांग्लादेशी शरणार्थियों को लेकर बिपिन रावत के बयान पर विवाद बढ़ गया है. सेना ने आर्मी चीफ के बयान का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं की.

आर्मी चीफ के बयान पर सेना की तरफ से कहा गया, “उनकी बातचीत में कई राजनीतिक या धार्मिक टिप्पणी नहीं की गई है. डीआरडीओ भवन में नॉर्थ-ईस्ट पर आयोजित हुए सेमिनार में सेना प्रमुख ने सिर्फ विकास और एकीकरण बात की.”

वहीं दूसरी तरफ एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि आर्मी चीफ को राजनीतिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए.

बता दें कि विपक्ष ने आर्मी चीफ पर बीजेपी समर्थित बयान देने का आरोप लगाया है. दरअसल बुधवार को एक सेमीनार में जनरल रावत ने कहा था कि उत्तर-पूर्व में ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) नाम की एक पार्टी पिछले कुछ साल में बीजेपी के मुकाबले तेजी से आगे बढ़ी है.
रावत ने इसके पीछे बांग्लादेश से आए अवैध मुसलमानों को ज़िम्मेदार ठहराया. AIUDF असम की पार्टी है जिसके वोटर ज्यादातर मुस्लिम समुदाय के लोग हैं. आपको बता दें कि असम में AIUDF मुस्लिमों के मुद्दे उठाती रही है, लेकिन आरोप लगते रहे हैं कि ये मुसलमान बांग्लादेश से आकर यहां गैरकानूनी तरीके से बस गए हैं.
ओवैसी के निशाने पर जनरल रावत
रावत के बयान पर हैरानी जताते हुए एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन औवैसी ने कहा, “आर्मी चीफ को सियासी मुद्दों में नहीं पड़ना चाहिए. ये उनका काम नहीं है जो वे किसी पार्टी के विकास, लोकतंत्र पर बोलें, जिसकी इजाजत संविधान देता है. आर्मी हमेशा एक चुने हुए नागरिक सरकार के तहत काम करती है”.

बदरुद्दीन अजमल ने उठाया सवाल
AIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने भी जनरल रावत के बयान पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, “जनरल रावत ने सियासी बयान दिया है. किसी आर्मी प्रमुख को इस बात पर क्यों फिक्रमंद होना चाहिए कि एक लोकतांत्रिक और सेकुलर मूल्यों वाली पार्टी बीजेपी से ज्यादा तेजी से विकास कर रही है? उन्हें समझना चाहिए कि AIUDF या आप जैसी पार्टियां बड़ी-बड़ी पार्टियों की नाकामी के कारण आगे बढ़ती हैं.”
जनरल बिपिन रावत का विवादित बयान
नॉर्थ-ईस्ट की आबादी में छेड़छाड़ को मुश्किल बताते हुए रावत ने कहा, “AIUDF नाम की एक पार्टी है. पिछले कई साल में बीजेपी ने जिस तेजी से विकास किया, उससे कई गुना ज्यादा तेजी से AIUDF फैली है. अगर हम जनसंघ और उसके दो सांसदों वाली पार्टी की तुलना असम में AIUDF से करें तो पाएंगे कि ये उनसे ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं.”

पाकिस्तान और चीन पर निशाना
आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने सेमिनार में पाकिस्तान और चीन पर भी निशाना साधा. जनरल रावत के मुताबिक, देश के उत्तर पूर्व में बाहर से अवैध आबादी के पीछे पाकिस्तान का हाथ है और चीन भी उसका साथ दे रहा है. जनरल बिपिन रावत के मुताबिक ये प्रॉक्सी युद्ध की तरह है जहां पाकिस्तान और चीन चाहता है कि इस इलाके में लगातार तनाव बना रहे. उन्होंने कहा, “पड़ोसी ये गेम अच्छी तरह खेल रहा है. इस इलाके को अशांत रखने के लिए अवैध आबादी भेजी जा रही है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here