‘पापा मुझे माफ करना, मैं इंजीनियर नहीं बन सका’

0
135

सुल्तानपुर। कमला नेहरू प्रौद्योगिकी संस्थान (KNIT) में गुरुवार को बीटेक स्टूडेंट ने हॉस्टल के रूम में सुसाइड कर लिया। यूपी के सुल्तानपुर में शुक्रवार को यह घटना हुई। छात्र नितिन की जेब से सुसाइड नोट मिला जिसमें उसने अपनी कैंसर बीमारी का जिक्र किया और इंजीनियर बनने का पापा का सपना पूरा न कर सकने के लिए माफी मांगी है।

सुसाइड नोट में कैंसर का जिक्र

आधिकारिक तौर पर इस बात की पुष्टि हुई है कि स्टूडेंट नितिन ने सुसाइड करने से पहले एक लेटर लिखा था जिसमें उसने अपने पिता से माफी मांगते हुए कहा कि ‘पापा मुझे माफ कर दीजिए, मुझे इस बात का दुःख है कि मैं इंजीनियर नहीं बन सका’। नितिन ने अपने सुसाइड लेटर में बीमारी का भी जिक्र किया। उसने बताया कि उसको कैंसर है और इस बात का पता न तो उसने पैरेंट्स को चलने दिया और न ही फ्रेंड्स को KNIT का छात्र नितिन फंदे से झूला

आपको बता दें कि नितिन मूल रूप से डिस्ट्रिक्ट वाराणसी के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बरभराकलां निवासी गुलाब राम का पुत्र था, और वो यहां बीटेक सेकेंड इयर का स्टूडेंट था। वो न्यू रामानुजम छात्रावास के कमरा नम्बर जेड-12 में रहता था। उसके कमरे में इंजीनियरिंग के दो और स्टूडेंट भी रहते थे। उनमें से एक कुछ दिनों पहले किसी काम से दिल्ली गया था जबकि दूसरा राज श्रीवास्तव मौजूद था।

कमरे में अकेला था नितिन

रोज की तरह गुरुवार सुबह राज खेलने के लिये निकला, उसे सुबह नितिन ने ही जगाया था। उसके जाते ही नितिन ने कमरा अंदर से बंद कर लिया। तकरीबन 9 बजे जब राज खेलकर लौटा और कमरा खोलने के लिए नितिन को आवाज लगाई तो कमरा नहीं खुला। काफी देर तक जब कमरा नहीं खुला तो आसपास के स्टूडेंट्स ने जोर-जोर से दरवाजा खटखटाना शुरू किया।

जब स्टूडेंट्स ने कमरे के ऊपर बने वेन्टिलेशन ब्लाक से झांककर देखा तो उनके होश उड़ गए। नितिन पंखे में लगे फंदे से लटक रहा था। आनन-फानन में मौजूद छात्रों ने वार्डन को सूचना दी। वार्डन के आते ही दरवाजा तोड़कर नितिन को बाहर निकालकर जिला अस्पताल पहुंचाया गया। अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस मामले की कर रही जांच

एसपी अमित वर्मा ने बताया कि नितिन के परिजनों के यहां पहुंचने के बाद शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया है और डेड बाडी उन्हें सौंप दी गई है। मिले सुसाइड नोट के अलावा पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस मामले की कर रही जांच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here