‘पद्मावत’ को उत्तर प्रदेश और गोवा में मिली हरी झंडी

0
156

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को तो जैसे ग्रहण सा लग गया है। जब से इस फिल्म की शुरूआत भंसाली ने की तभी से कोई न कोई मुसीबत खड़ी हो रही है। फिल्म का कई राजपूत संगठन द्वारा विरोध करने पर इसकी रिलीज डेट को बढ़ा दिया गया था। अब यह 25 जनवरी को रिलीज हो रही है। वहीं करणी सेना का कहना है कि फिल्म पूरे देश में बैन हो। वहीं भंसाली के लिए राहत की खबर है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने फिल्म की रिलीज को हरी झंडी दे दी है। रिपोर्ट्स की मानें तो योगी आदित्‍यनाथ की उत्तर प्रदेश सरकार ने इस फिल्‍म को उत्‍तर प्रदेश में रिलीज होने पर हामी भर दी है।
जबरदस्त विरोध को देखते हुए राजस्थान सरकार तय किया है कि यह फिल्म राजस्थान में नहीं रिलीज हो रही है। गौरतलब है कि 29 जनवरी को तीन सीटों राजस्थान में होने वाले उप चुनाव में राजपूत की नाराजगी से नुकसान होने की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने “पद्मावत” पर रोक लगाने की बात कही है।
वहीं राजस्थान उच्च न्यायालय के जस्टिस संदीप मेहता की कोर्ट ने आगामी 23 जनवरी से पहले फिल्म कोर्ट के समक्ष प्रदर्शित करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद तय करेंगे कि आगे क्या करना है। जस्टिस्ट मेहता ने शुक्रवार को निर्माता संजय लीला भंसाली और अन्य की याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिए हैं।
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का कहना है कि, अगर सेंसर बोर्ड ने ‘पद्मावत’ को प्रमाणित कर दिया है तो गोवा सरकार को राज्य में फिल्म की रिलीज को लेकर कोई आपत्ति नहीं है। पर्रिकर ने कहा कि, “यदि उनके पास सेंसर प्रमाण-पत्र है, तो हमें कोई आपत्ति नहीं है।
यदि कानून-व्यवस्था का कोई मुद्दा है, तो हम इसे देख लेंगे।” उन्होंने कहा, “अब तक, हमें फिल्म रिलीज होने की कोई सूचना नहीं मिली है। यदि इसके पास सेंसर प्रमाणपत्र है तो हम इसे नहीं रोक रहे।” उन्होंने आगे कहा कि, “यदि वे कुछ संशोधनों के साथ सेंसर प्रमाणपत्र के साथ आते हैं, तो हमें इसमें हस्तक्षेप का कोई बड़ा कारण नहीं दिख रहा है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here