नवजात को झाड़ियों में फेंकते हुए एक बार भी नहीं कांपे मां के हाथ, जवान ने किया अंतिम संस्कार

0
54

जिस तरह बच्चे की तस्वीर देखकर आप सिहर उठे क्या उस नवजात बच्चे को झाड़ियों में फेंकते हुए एक बार भी मां के हाथ नहीं कांपें होंगे? इस नन्ही जान का आखिर कसूर क्या था? इस तस्वीर को देखने के बाद शायद हर किसी के जुबान से यही निकलेगा कि धिक्कार है ऐसी मां को जो अपने ही कलेजे के टुकड़े को झाड़ियों में फेंक आई।

जिस जगह झाड़ियों में बच्चे की लाश पड़ी थी उसी रास्ते से कुछ जवान गुजर रहे थे। झाड़ी में बच्चे को पड़ा देखा उनकी आंखें नम हो गईं। बच्चे का शरीर मिट्टी में मिल चुका था। हालांकि उस वक्त उन्हें यह पता नहीं चल पाया कि वह बच्चा आखिर किसका था, और उसके मां-बाप कौन हैं। जवानों ने बिना देरी किए खुद जमीन की खुदाई की और बच्चे का अंतिम संस्कार किया। फिलहाल बच्चे के इस हाल के लिए उनके मां-बाप की तलाशी जारी है। इस बात की जानकारी यूपी पुलिस ने खुद ट्विटर पर ट्वीट कर दी है।

ऐसा नहीं है कि बच्चों को झाड़ियों में फेकने की ये पहली खबर है। अब तक ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, जो कलयुगी मां-बाप की करतूतों को समाज में सबसे सामने ला रही है। कुछ ने वही घिसी-पिटी प्रथा लड़की का जन्म होना पाप समझ नवजात को फेंका तो किसी ने गरीबी के दबाव में फेंका। किसी ने परिवार की सुनकर तो किसी ने कुछ। पर इस तस्वीर ने वाकई सबको हिला दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here