टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका में रचा इतिहास, वनडे के बाद टी20 में भी ‘पास’

0
103

आखिरकार टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका दौरे का समापन जीत के साथ किया है. जी हां, टीम रोहित शर्मा की कप्तानी में केपटाउन में दौरे का आखिरी मैच खेल रही थी जिसमें उसने 173 रन का लक्ष्य लेकर मैदान में उतरी मेजबान साउथ अफ्रीका को निर्धारित 20 ओवर में 165/6 के स्कोर पर रोक दिया. यानि टीम इंडिया को मिली सात रन की अहम जीत.

बहरहाल, साउथ अफ्रीका की शुरूआत अच्छी नहीं रही और रेज़ा हेन्डरीक्स (7) के रूप में उसे दस रन के स्कोर पर पहला झटका लगा. इसके बाद डेविड मिलर और कप्तान जेपी डुमिनी ने मोर्चा संभाला, लेकिन 45 के स्कोर पर मिलर (24) को सुरेश रैना ने अक्षर पटेल के हाथों के कैच करा दिया. इसके बाद शानदार फार्म में चल रहे हैनरिच क्लासेन भी ज़्यादा देर पिच पर नहीं टिक सके और उन्हें हार्दिक पंड्या ने भुवनेश्वर कुमार के हाथों सात रन के स्कोर पर कैच कराया. जब क्लासेन आउट हुए तब टीम का स्कोर 79 रन था.

अफ्रीका अभी भी मैच में थी क्योंकि कप्तान डुमिनी और क्रिस्टियन जोंकर मैदान में थे. दोनों ने चौथे विकेट के लिए 30 रन की साझेदारी करके भारतीय खेमे में शिकन ला दी थी. खैर, 55 रन बनाकर खेल रहे डुमिनी को शार्दुल ठाकुर ने रोहित शर्मा के हाथों कैच कराके टीम इंडिया को बड़ा विकेट दिलाया. वह चौथे विकेट के​ रूप में आउट हुए और उस वक्त टीम का स्कोर 109 रन था. हालांकि आखिरी समय में टी20 डेब्यू करने वाले क्रिस्टियान जोंकर ने 24 बॉल में पांच चौकों और दो छक्कों के साथ 49 रन बनाकर भारत के लिये खतरे की घंटी बजा दी थी, लेकिन आखिर में भारतीय बॉलर्स ने संयम के साथ गेंदबाज़ी करते हुए जीत सुनिश्चित की.

टीम इंडिया के लिए भुवनेश्वर कुमार ने चार ओवर में 24 रन देकर दो विकेट लिये. जबकि हार्दिक पंड्या, जसप्रीत बुमराह, सुरेश रैना और ठाकुर को एक-एक विकेट मिला. सुरेश रैना को मैन आॅफ द मैच और भुवी को मैन आॅफ द सीरीज़ का अवार्ड दिया गया.
टीम इंडिया ने बनाए थे 172 रन
साउथ अफ्रीका के कप्तान जेपी डुमिनी ने टॉस जीतकर टीम इंडिया को पहले बल्लेबाज़ी का मौका दिया था. लेकिन टीम इंडिया की शुरूआत अच्छी नहीं रही थी क्योंकि कप्तान रोहित शर्मा 11 रन के निजी स्कोर पर जूनियर डाला की बॉल पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए. इसके बाद शिखर धवन और सुरेश रैना ने दूसरे विकेट के लिए 65 रन जोड़े लेकिन वह न्यूलैंड्स की धीमी पिच पर रन रेट तेज़ नहीं रख पाए. टीम इंडिया ने रैना के रूप में दूसरा विकेट गंवाया. जब रैना आउट हुए उस वक्त टीम का स्कोर 73 रन था. उन्होंने 43 रन की शानदार पारी खेली. वह स्पिनर तबरेज शम्सी की गेंद पर लांगआन पर बेहारदिन के हाथों लपके गए.

दूसरे छोर पर धवन सहज नहीं दिख रहे थे और वो दो जीवनदान का भी फायदा नहीं उठा सके. शम्सी ने दो बार उनका कैच छोड़ा. पहले मौरिस की गेंद पर शार्ट थर्डमैन में जब उनका स्कोर नौ रन था और फिर 13वें ओवर में आरोन फागिंसो की गेंद पर जब वह 34 रन पर थे. टीम इंडिया स्कोर 100 रन 12वें ओवर में हुआ. रैना के बाद मनीष पांडे क्रीज़ पर आए और धवन और मनीष पांडे (13) ने तीसरे विकेट के लिये 32 रन जोड़े. 111 के स्कोर पर पांडे को जूनियर डाला ने डीप में लपकवाया. जबकि 126 के स्कोर पर ओपनर शिखर धवन भी आउट हो गए. उन्होंने 40 बॉल में 47 रन बनाए.

इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पंड्या और दिनेश कार्तिक के रूप में टीम को झटके लगे जो कि क्रमश: 12, 21 और 13 रन बनाकर आउट हुए. धोनी, पंड्या और दिनेश कार्तिक आठ गेंद के भीतर पवेलियन लौट गए थे. अंतत: टीम इंडिया का स्कोर 172/7 रहा. साउथ अफ्रीका के लिए जूनियर डाला ने तीन, क्रिस मोरिस ने दो तो तबरेज शम्सी ने एक विकेट अपने नाम किया.

विराट कोहली के बिना जीती टीम इंडिया
केपटाउन में होने वाले निर्णायक मैच से पहले टीम इंडिया को सबसे बड़ा झटका विराट कोहली के रूप में लगा जो कि कमर मे जकड़न के कारण मैच से बाहर हो गए. नियमित कप्तान की अनुपस्थिति में उपकप्तान ​रोहित शर्मा को टीम लीड करने का मौका मिला.

ऐसा रहा टीम इंडिया का साउथ अफ्रीका दौरा
टीम इंडिया ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज़ के साथ दौरे का आगाज किया था जिसमें उसे 2-1 से हार मिली थी. लेकिन टीम इंडिया ने छह मैचों की वनडे सीरीज़ में 5-1 से बाजी मारकर खुद का आईसीसी रैंकिंग में नंबर वन बना डाला. जबकि दौरे का समापन तीन टी20 मैचों की सीरीज़ से होना था जिसमें टीम इंडिया ने 2-1 से बाजी मारकर खुद को बेहतर साबित कर दिया है. साउथ अफ्रीका में तीन मैचों की टी20 सीरीज़ जीतने वाली टीम इंडिया चौथी टीम है. इससे पहले आॅस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और श्रीलंका ने वहां सफलता हासिल की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here