छह साल से टूटी सड़क के गड्ढे को बनाया तालाब, लोगों ने पकड़ीं मछलियां

0
77

सड़कें बदहाल हैं- बर्बाद हैं। नेता और अफसर कहते हैं- सड़कें जल्द ठीक हो जाएंगी…पर कुुछ होता नहीं है
भागलपुर। इंजीनियरिंग कॉलेज गेट से जीरोमाइल होते हुए उल्टा पुल तक सात किलोमीटर लंबा एनएच है। सड़क की हालत सुधारने के लिए विभाग के पास अब तक कोई ठोस योजना नहीं है। छह साल पहले इस एनएच के निर्माण पर 10 करोड़ रुपए खर्च हुए, लेकिन सब गड्ढे में मिल गए। शहर के इंट्री प्वाइंट जीरोमाइल से ही इसकी दुर्दशा दिखने लगती है।

जगह-जगह पर बड़े-बड़े गड्‌ढ़े हैं। यहां से वाहनों को निकालना चालकों के लिए जंग जीतने के बराबर है।

सड़कें बदहाल हैं- बर्बाद हैं। नेता और अफसर कहते हैं- सड़कें जल्द ठीक हो जाएंगी…पर कुुछ होता नहीं है

हर बार विभाग इस सड़क को बनाने को लेकर नया बहाना ढूंढ लेता है। कभी टेंडर और ठेकेदार नहीं मिलने की बात तो कभी जल्द बनेगी… बरसात से पहले ठीक हो जाएगी… का जुमला। मामला टलता जाता है। मुख्यमंत्री व मंत्रियों के आगमन पर केवल उस रास्ते के गड्ढे में चिप्पी लगती है। कुछ दिनों के बाद हालात फिर पहले जैसे ही हो जाते हैं। रविवार की सुबह जीरोमाइल चौक के पास खतरनाक गड्ढे, जो पहले से ही तालाब की तरह दिख रहे थे, वहां शहर के लोग मछलियां पकड़ने के लिए इकट्ठा हुए। लोग अपने साथ बंसी भी लेकर आए और मछलियां पकड़ीं।

बीच सड़क का बायोडाटा

हाल जीरोमाइल से उल्टा पुल के बीच एनएच का

06 साल से नहीं हुई है सड़क की मरम्मत

03 लाख लोग रोज होते हैं टूटी सड़क के कारण परेशान

20 हजार से अधिक बड़े वाहन गुजरते हैं इस रोड से

2-3 घंटे रोज टूटी सड़क के कारण लगता है जाम

07 किमी सड़क का दो दशक से ऐसा ही हाल

10 करोड़ रुपए का ठेका 2012 में हुआ, बादल युवराज को मिला था काम

06 माह के अंदर ही टूटने लगी थी सड़क, मरम्मत के आभाव में है जर्जर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here