इस देश के लोग हैं सबसे ज़्यादा सेक्सुअली संतुष्ट

0
69

दुनिया में ऐसे कई स्थान हैं जो एडल्ट डेस्टिनेशन के लिए मशहूर हैं। इस आर्टिकल में हम उन देशों के नाम बताने वाले हैं जो सबसे ज़्यादा सेक्सुअली क्रियाओं में सक्रिय होने के लिए जाने जाते हैं। सेक्सुअली एक्टिव होने के मामले में ये पूरी दुनिया के शीर्ष देश हैं। ये लिस्ट एक रिसर्च के बाद जारी की गई है जो कंडोम कंपनी के सर्वे और नतीजों पर आधारित है। वो लिस्ट चेक करने के लिए पढ़ें ये लेख।

स्पेन

यौन इच्छा को पूरा करने और संतुष्टि के मामले में स्पेन दुनिया का शीर्ष देश है। ये गर्म और ट्रॉपिकल देश दुनियाभर में अपनी बीच पार्टियों के लिए मशहूर है। 2018 में ही हुई रिसर्च में स्पेन सेक्सुअली एक्टिव देशों की लिस्ट में सबसे आगे रहा है।

स्विट्ज़रलैंड

स्विट्ज़रलैंड दुनिया का ना सिर्फ सबसे ज़्यादा सेक्सुअली एक्टिव देश है बल्कि ये यौन क्रियाओं की संतुष्टि के मामले में भी आगे है। ये देश अपने कई उदार फैसलों के लिए भी जाना जाता है उनमें से एक है देश में वैश्यावृत्ति को वैध करना।

ग्रीस

ग्रीस भी दुनिया के सबसे ज़्यादा सेक्सुअली एक्टिव देशों की लिस्ट में शामिल है। इस देश के लोग इस बात को जानने में विश्वास रखते हैं कि उनका पार्टनर चाहता क्या है और उसकी ज़रूरतें क्या हैं। यहां समंदर के पास के कुछ डेस्टिनेशन अपने पार्टनर के साथ वक़्त बिताने के लिए परफेक्ट माहौल देते हैं।

मेक्सिको

सेक्सुअली एक्टिव देशों की लिस्ट में मेक्सिको चौथे स्थान पर है। ये रंग मिज़ाजी वाला देश अपने वैध वैश्यावृत्ति के लिए जाना जाता है।

ब्राज़ील

यौन क्रियाओं में सक्रियता के मामले में ब्राज़ील भी पीछे नहीं और वो भी इस लिस्ट में शामिल है। रिसर्च के मुताबिक, इस देश की महिलाएं सबसे ज़्यादा सक्रिय मानी गयी हैं।

चीन

रिसर्च के अनुसार, चीन सेक्सुअली संतुष्ट होने की सूची में जगह बना पाया है। इसके पीछे देश की बड़ी जनसंख्या की भूमिका है।

नाइजीरिया

नाइजीरिया भी दुनिया के सबसे ज़्यादा सेक्सुअली सक्रिय देशों में जाना जाता है। इस देश में किशोर उम्र वाले भी यौन क्रियाओं में सम्मिलित पाए जाते हैं। रिसर्च के मुताबिक ये पाया गया है कि इस देश के 25 प्रतिशत किशोर सेक्सुअली एक्टिव हैं। यहां 10 से 15 साल के बच्चे इस काम में सक्रिय भाग लेना शुरू कर देते हैं। वहीं उन्हें सेक्स एजुकेशन बिल्कुल नहीं दी जाती है, जो उनके लिए स्वास्थ्य की दृष्टि से गलत है।

भारत

2018 में जारी की गई सेक्सुअल एक्टिव देशों की लिस्ट में भारत का नाम भी शामिल है। चीन की तरह भारत की आबादी ने भी इसमें अहम भूमिका निभाई है। यहां कई ऐसे मामले सामने आए हैं जहां यौन शिक्षा का प्रबंध नहीं किया गया। ना ही उन्हें सुरक्षित यौन संबंधों की जानकारी है और ना ही प्रोटेक्शन के बारे में शिक्षा दी गई है। जिसकी वजह से स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियां भी लोगों को देखने को मिली। हाल ही में, सुप्रीम कोर्ट ने एडलट्री को वैध कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here