आने वाले सालों में धरती पर गाय ही दिखाई देगी, ये है प्रमुख कारण

0
52

वॉशिंगटन: एक अध्ययन के अनुसार यदि भविष्य में बड़े आकार वाले और विलुप्तप्राय: जीवों का अस्तित्व नहीं रहा तो आने वाले 200 वर्षों में घरेलू गाय पृथ्वी पर सबसे बड़ी स्थल स्तनधारी जीव रह जाएगी. अमेरिका में न्यू मैक्सिको विश्वविद्यालय के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने पाया कि स्तनधारी जैव विविधता का नुकसान एक प्रमुख संरक्षण चिंता है जो कम से कम 125,000 वर्षों तक चलने वाली लंबी अवधि की प्रवृत्ति का हिस्सा है. जर्नल साइंस में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार बड़े आकार वाले स्तनधारी जीवों पर मनुष्य के प्रभाव से इन जीवों के अफ्रीका से बाहर चले जाने का अनुमान लगता है.

शोधकर्ताओं ने पाया कि जीवों के शरीर के आकार में गिरावट से प्रत्येक महाद्वीप पर समय के साथ ही सबसे बड़ी प्रजातियों के अस्तित्व को खतरा है और यह अतीत तथा वर्तमान दोनों में मानव गतिविधि की एक बानगी है. अध्ययन के अनुसार यदि भविष्य में यही प्रवृत्ति जारी रही तो शोधकर्ताओं ने चेताया है कि आने वाले 200 वर्षों में घरेलू गाय पृथ्वी पर सबसे बड़ा स्थलीय स्तनधारी हो सकता है.

इसका मतलब यह है कि हाथियों, जिराफ और दरियाई घोड़ों का अस्तित्व खतरे में पड़ जायेगा. न्यू मैक्सिको विश्वविद्यालय के फेलिसा स्मिथ ने कहा, ‘‘सबसे चौंका देने वाली खोजों में से एक यह थी कि 125,000 साल पहले, अफ्रीका में स्तनधारियों का औसत शरीर का आकार पहले से ही अन्य महाद्वीपों की तुलना में 50 प्रतिशत छोटा था. ’’ स्मिथ ने कहा, ‘‘हमें संदेह है कि इसका मतलब यह है कि पुरातन मनुष्यों ने पहले से ही स्तनधारी विविधता और जीवों के शरीर के आकार को प्रभावित किया था. ’’

MP में अब गाय लावारिस छोड़ी तो खानी पड़ेगी जेल की हवा
आपको बता दें कि मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार अब नर्मदा यात्रा और एकात्म यात्रा के बाद शिवराज सरकार ऐसा कानून लाने की तैयारी कर रही है जिसमें गायों को आवारा छोड़ने वाले गोपालकों को सजा दी जा सके. कानून की भनक मिलते ही कांग्रेस ने सरकार को निशाने पर ले लिया था. इसे चुनावी आहट में भगवा रथ पर सवार बीजेपी का हिन्दू एजेंडा बताया जा रहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here